02 जून 2020

तिथि

तक::

नक्षत्र

मू तक ::

योग

आयुष्मान तक ::

हस्तरेखा और भविष्य

हस्तरेखा और भविष्य

1,100.00
सभी करों का समावेश
अभी खरीदें

सामान्य परिचय– हस्त रेखा शास्त्र को समुद्रिक विज्ञान भी कहाँ जाता है।हस्त रेखा के माध्यम से जीवन में घटित होने वाली सभी शुभ-अशुभ घटनाओं का पता चलता है।कहा भी जाता है व्यक्ति अपना चेहरा बदल सकता है परंतु अपने हाथ को नही,इस लिए व्यक्ति की पहचान के लिए हाथ के निशान भी लिए जाते है।व्यक्ति के हाथो मे समय-समय पर अनेको परिवर्तन आते है जैसे रेखाओं का कटना,बडना,हाथो के आकार का परिवर्तन होना,हाँथों में तिल इत्यादि का आना या चिन्ह आदि का दिखना यह सभी संकेत जीवन में घटित होने वाली शुभ व अशुभ घटनाओं को अंकित करते है।हस्तरेखा शास्त्र वैदिक ज्योतिष का ही अभिन्न अंग है।इसकी परमणिकता वैदिक काल से ही है।
हमारे विद्वान आचार्यों द्वारा हस्त रेखा सम्बंधित जानकारी व्यक्ति को फ़ोन पर हस्त चित्र द्वारा या हस्त रेखा विश्लेषण के द्वारा उपलब्ध करायी जाती है।हमारे आचार्यों द्वारा हस्त रेखा सम्बंधित परामर्श व उपाय भी व्यक्ति को दिए जाते है।

क्या है हस्त रेखा सम्बंधित जानकारी
हस्त रेखा सम्बंधित जानकारी व्यक्ति को हस्त रेखा शास्त्र के आधार पर दी जाती है।हाथो के आकार-प्रकार,चिन्ह,तिल इत्यादि सम्बंधित जानकारी का विश्लेषण हस्त रेखा शास्त्र के द्वारा किया जाता है,हस्त रेखा का सूक्ष्म रूप से विश्लेषण कर हमारे विद्वान आचार्यों द्वारा  सभी शुभ-अशुभ घटनाओं की जानकारी व्यक्ति को दी जाती है,ताकि भविष्य में अशुभ घटनाओं से बचाव किया जा सके व शुभता व लाभ की प्राप्ति कि जा सके।

हस्त रेखा सम्बंधित जानकारी के लाभ
-हस्त रेखा सम्बंधित जानकारी से व्यक्ति के जीवन में होने वाली सभी शुभ-अशुभ घटनाओं का पता चलता है।
-हस्त रेखा द्वारा शुभ फल की वृद्धि और अशुभ फल से  बचाव हेतु उचित परामर्श दिए जाते है।
-हस्त रेखा  सम्बंधित जानकारी के साथ उचित उपचार विद्वान आचार्यों द्वारा दिया जाता हैं।
-हमारे द्वारा दी गयी हस्त रेखा सम्बंधित जानकारी ई-मेल के माध्यम से भी उपलब्ध करायी जाती  है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *