28 मई 2020

तिथि

तक::

नक्षत्र

मू तक ::

योग

आयुष्मान तक ::

आय/वित

आय/वित

1,100.00
सभी करों का समावेश
अभी खरीदें

धन आज उतना ही ज़रूरी है जितना भोजन है,क्यूँकि आज बिना धन के भोजन भी नही मिलता।ज़िंदगी में आज कुछ भी चीज़ को पाने के लिए धन की अवश्यकता होती है,फिर चाहे वो भोजन हो,कपड़ा हो,मकान हो,या हमारी ज़रूरत के सामान हो बिना धन के आज के युग में जीवन यापन करना बहुत कठिन है।इसी कारण धन की अवश्यकता हर किसी को होती है।
धन को दो भागो में बाटा गया है-
1-आय 2-संचित धन
1-आय हमारे कर्म पर निर्धारित होती है,हम क्या कर्म करते है जिस से हमारी आय अच्छी हो।इस के दो माध्यम होते है-व्यापार ओर नौकरी-
2-संचित धन-जिसे आज के समय में saveing कहा जाता है।हम धन को संचित इस लिए करते है ताकि बुरे वक़्त में इसका उपयोग कर सके या इसका उपयोग सही कार्यों मे कर सके।
ज्योतिष के माध्यम से हम आपको बताएँगे आय व धन से जुड़ी ज़रूरी जानकारी।आपकी कुंडली में स्थित ग्रह-योग जो आपकी आय व धन को प्रबल करते है,साथ ही कुछ  योग जो आपकी आय व धन की स्थिति को नुक़सान देते है।क्या कारण होता है की आपकी आया कभी अच्छी नही होती या आपके द्वारा किए गए निवेश से आपको नुक़सान का सामना करना पड़ता है।कभी किसी को धन की मदद तो की पर वह आपके लिए परेशनियाँ ले आता है ओर आपका धन फँस जाता है,या कहे की आय की कमी के चलते लेने पड़ते है क़र्ज़।हमारे विद्वान आचार्यों द्वारा आपकी कुंडली में स्थित ग्रह-योग के आधार पर आय/वित  से जुड़ी पूर्ण जानकारी आपको दी जाएगी।

क्या है आय/वित से सम्बंधित जानकारी?
आय/वित से सम्बंधित जानकारी व्यक्ति की कुंडली (जन्म दिनांक,जन्म समय,जन्म स्थान)के आधार पर दी जाती है।आय/वित सम्बंधित जानकारी का विश्लेषण कुंडली के विभिन्न वर्गों के द्वारा व कुंडली में स्थित ग्रह,नक्षत्र,राशि,भाव के द्वार किया जाता है,व दशा का सूक्ष्म रूप से विश्लेषण कर हमारे विद्वान आचार्यों द्वारा भविष्य में होने वाली आय/वित सम्बंधित समस्या व योगों की जानकारी व्यक्ति को दी जाती है,ताकि भविष्य में आय/वित सम्बंधित समस्याओं से बचाव किया जा सके व आय/वित सम्बंधित शुभ फल की वृद्धि की जा सके।

आय/ वित  सम्बंधित जानकारी के लाभ
-आय/वित सम्बंधित जानकारी से भविष्य में होने वाली समस्या व लाभ का पता चलता है।
-आय/वित  सम्बंधित जानकारी के साथ विद्वान आचार्यों का परामर्श भी उपलब्ध होता है।
-आय/वित सम्बंधित जानकारी के साथ उचित उपचार हेतु परामर्श(पूजा-पाठ,मंत्र-जाप ,रत्न,यंत्र,औषधि स्नान,दान)  विद्वान आचार्यों द्वारा दिया जाता हैं।
-हमारे द्वारा दी गयी आय/वित  सम्बंधित जानकारी ई-मेल व कुंडली के माध्यम से उपलब्ध करायी जाती  है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *