28 अक्टूबर 2020

तिथि

तक::

नक्षत्र

मू तक ::

योग

आयुष्मान तक ::

होम/ग्रहस्थिति

ग्रहस्थिति पारगमन

  • 2019 में मंगल का कोई प्रतिगामी गति नहीं है
  • बुध प्रतिगामी हो जाता है 05, मार्च 2019 मंगलवार को 23:49 बजे
  • बुध प्रगतिशील हो जाता है 28, मार्च 2019 गुरुवार को 19:29 बजे
  • बुध प्रतिगामी हो जाता है 08, जुलाई 2019 सोमवार को 04:45 बजे
  • बुध प्रगतिशील हो जाता है 01, अगस्त 2019 गुरुवार को 09:28 बजे
  • बुध प्रतिगामी हो जाता है 31, अक्टूबर 2019 गुरुवार को 21:11 बजे
  • बुध प्रगतिशील हो जाता है 21, नवंबर 2019 गुरुवार को 00:41 बजे
  • बृहस्पति पर प्रतिगामी हो जाता है 10, अप्रैल 2019 बुधवार को 22:17 बजे
  • बृहस्पति प्रगतिशील हो जाता है 01, अगस्त 2019 रविवार को 19:18 बजे
  • 2019 में शुक्र का कोई प्रतिगामी गति नहीं है
  • शनि पर प्रतिगामी हो जाता है 30, अप्रैल 2019 मंगलवार को 06:42 बजे
  • शनि प्रोग्रेसिव ऑन हो जाता है 18, सितंबर 2019 बुधवार को 14:08 बजे

ग्रहों के प्रतिगमन के बारे में

ज्योतिष शास्त्र में ग्रहो  की गति का विशेष महत्व है,ज्योतिष शास्त्र में ग्रह की आठ प्रकार की गति का वर्णन मिलता है जो इस प्रकार है वक्र -अतिवक्र-विकल-मंद-अतिमंद-सम-शीघ्र-अतिशीघ्र,ग्रह कभी शीघ्र संचरण करते है कभी यह मंद अर्थात धीरे-धीरे संचरण करते है,इनके इसी संचरण में वक्री और मार्गी स्थिति का वर्णन मिलता है,कहा जाता है एक ग्रह के शीघ्र संचरण व दूसरे के मंद संचरण से  ऐसा प्रतीत होता है की ग्रह अपनी गति से उल्टा अर्थात वक्री अवस्था में संचरण कर रहा है।ग्रह के इसी वक्री-मार्गी गति से फल में न्यूनता व अधिकता देखने को मिलती है।

ब्लॉग

और देखे