28 अक्टूबर 2020

तिथि

तक::

नक्षत्र

मू तक ::

योग

आयुष्मान तक ::

होम/ग्रहस्थिति

ग्रहस्थिति अस्त

  • 05 जनवरी 2019 (शनिवार ) 05:23 07 जनवरी 2019 (सोमवार ) 09:18
  • 03 फरवरी 2019 ( रविवार ) 23:54 06 फरवरी 2019 (बुधवार ) 04:33
  • 05 मार्च 2019 ( मंगलवार) 20:01 07 मार्च 2019 (गुरूवार ) 21:50
  • 04 अप्रैल 2019 (गुरूवार ) 14:53 06 अप्रैल 2019 (शनिवार ) 13:10
  • 02 जून 2019 (रविवार ) 17:52 04 जून 2019 ( मंगलवार ) 13:39
  • 02 जुलाई 2019 ( मंगलवार ) 03:20 03 जुलाई 2019 (बुधवार ) 22:04
  • 31 जुलाई 2019 (बुधवार) 12:00 02 अगस्त 2019 (शुक्रवार ) 04:36
  • 29 अगस्त 2019 (गुरुवार) 20:37 31 अगस्त 2019 (शनिवार) 10:46
  • 28 सितम्बर 2019 (शनिवार ) 05:21 29 सितम्बर 2019 (रविवार ) 18:24
  • 27 अक्टूबर 2019 (रविवार ) 14:11 29 अक्टूबर 2019 (मंगलवार) 04:58
  • 25 नवंबर 2019 (सोमवार ) 23:46 27 नवंबर 2019 (बुधवार) 18:41
  • 25 दिसंबर 2019 (बुधवार ) 11:29 27 दिसंबर 2019 (शुक्रवार ) 10:36
  • 12 जुलाई 2019 (शुक्रवार) को 06:54 बजे 22, अक्टूबर 2019 (मंगलवार) 19:24 पर
  • 06 जनवरी 2019 (रविवार) सुबह 10:03 बजे 17 फरवरी 2019 (रविवार) 15:23 बजे
  • 08, मार्च 2019 (शुक्रवार) 16:39 बजे 21 मार्च 2019 (गुरुवार) को 13:53 बजे
  • 09, मई 2019 (गुरुवार) को 06:08 बजे 02 जून 2019 (रविवार) को 17:54 पर
  • 14, जुलाई 2019 (रविवार) 13:55 पर 29, जुलाई 2019 (सोमवार) 05:46 बजे
  • 21 अगस्त 2019 (बुधवार) 00:25 बजे 22 सितंबर 2019 (रविवार) को 00:13 बजे
  • 06, नवंबर 2019 (बुधवार) 09:41 बजे 17, नवंबर 2019 (रविवार) को 12:52 बजे
  • 16, दिसंबर 2019 (सोमवार) 04:19 बजे 31 जनवरी 2020 (शुक्रवार) 12:05 बजे
  • 14, दिसंबर 2019 (शनिवार) 01:14 बजे 10 जनवरी 2020 (शुक्रवार) को 22:23 बजे
  • 09, जुलाई 2019 (मंगलवार) को 02:44 बजे 19, सितंबर 2019 (गुरुवार) को 23:32 बजे
  • 15, दिसंबर 2018 (शनिवार) 17:28 पर 20, जनवरी 2019 (रविवार) को 04:58 बजे

ग्रहों के दहन के बारे में

उदय-जब भी सूर्य के समीप कोई ग्रह आता है तो वह अपना प्रकाश खो देता है और सूर्य के प्रकाश से दिपत हो जाता है,इस स्थिति में ग्रह के अपने प्रकश से रहित होने को अस्त की संज्ञा दी जाती है।सभी ग्रह सूर्य के समीप भिन्न-भिन्न अंशात्मक स्थिति में अस्त होते है जैसे चन्द्रमा सूर्य के 12 अंश की दुरी पर अस्त होता है।मंगल सूर्य से 7 अंश या इस से कम स्थिति में अस्त होता है।बुध सूर्य से 14 अंश तक या उस से कम स्थिति में अस्त होता है,बुध यदि अपनी वनस्पति अर्थात वक्र गति से चल रहे हो तो यह 12 अंश तक या इस से कम स्थिति में अस्त हो जाता है।बृहस्पति सूर्य से 11 अंश या इस से कम स्थिति में अस्त हो जाते है।शुक्र सूर्य से 10अंश या इस से कम स्थिति में अस्त होता है,शुक्र यदि अपनी वनस्पति अर्थात वक्र गति में है तो 8 अंश या इस से कम स्थिति में अस्त होते है।शनि सूर्य से 15 अंश या इस से कम स्थिति में अस्त होता है।राहु केतु छाया ग्रह होने के कारण अस्त नहीं होते।

ब्लॉग

और देखे